सात का महत्व

 

सप्तद्वीप: जम्बूूद्वीप, प्लक्षद्वीप, शाल्मलद्वीप, कुशद्वीप, क्रौंचद्वीप, शकद्वीप, पुष्करद्वीप।

सप्तऋशि: कश्यप, अत्रि, भारद्वाज, गौतम, विश्वामित्र, जमदग्नि, वशिष्ठ।

सप्तकाण्ड: बाल, अयोध्या, अरण्य, किष्कन्धा, सुन्दर, लंका,उतर।

सप्तघृतमातृका: श्री, लक्ष्मी, घृती, मेधा, स्वाहा,प्रज्ञा,सरस्वती।

सप्तनदियां: गंगा, यमुना, सरस्वती, कावेरी, गोदावरी, सिन्धु, नर्मदा।

सप्तपुरी: काशी, कांची, अयोध्या, हरिद्वार, मथुरा, द्वारिका, उज्जैन।

सप्तधान: जौ,गेहूं,चना,उड़द,मूंग,चावल,कंगनी।

सप्तसागर: क्षीर,दधि,घृत,मधु,इक्षु,मदिरा,लवण।

सप्तमृतका: गौशाला, गजशाला, सागर, अश्वशाला, वाल्मीक, तालाब (मिटटी) राजद्वार (कचहरी),

सप्तअमर: हनुमान, अश्वत्थामा, बलि, वेदव्यास, विभीशण, कृपाचार्य, परशुराम