भारतीय संस्कृति में 9 अंक का महत्व

हमारी संस्कृति में 9 का विशेश स्थान है। ये 9 अंक इस विश्व में सबसे बड़ी संख्या है। 9 को 9 से गुणा करने पर 9 ही रहता शेश जैसे 9, 18, 27, 36, 45, 54, 63,72, 81, 90
1. मनुश्य जाति का हर प्राणी इस संसार में माता के गर्भ में 9 महीने रहनेकेपश्चात्हीजन्मलेताहै। यानि कि 9 का अंकहै।

कुल जोड़
2. सतयुग की अवधि 1728000 वर्ष 18 संख्या : 9

3. त्रैतायुग की अवधि 1296000 वर्ष 18 संख्या : 9

4. द्वापर युग की अवधि 864000 वर्ष 18 संख्या : 9

5. कलियुग की अविध 432000 वर्ष : 9

6. पुराणों की संख्या : 9

7. उपनिशदों की संख्या : 9

8. महाभारत में पर्व : 9

9. महाभारत में युद्ध की सीमा 18 दिन : 9

10. श्रीमद्भागवतगीता के 18 : 9

11. इस ब्रह्मांड के ग्रह : 9
12. नवरात्रे : 9
13. आदि शक्ति के रूप : 9
14. शरीर के द्वार : 9
15. रस संख्या : 9
16. भक्ति के प्रकार : 9
17. रत्नों की संख्या : 9
18. हिन्दी एवं संस्कृत की वर्णमाला में:
12 स्वर + 33 व्यंजन = 45
19. चार युगों की संख्या 4320000: 18 संख्या : 9
20. मन्वन्तर सन्धि 24192: 18 संख्या . : 9
21. मनुश्य एक दिन-रात में 21600 श्वास लेता है . : 9